चुनावों से पहले राजस्थान जाट महासभा का भाजपा को झटका

Please Share!

भाजपा के लिए आज का दिन एक बुरी खबर लेकर आया। अपने परंपरागत राजपूत वोटरों को को चुकी भाजपा को आज एक और झटका लगा। राजस्थान जाट महासभा ने आगामी विधान सभा चुनावों में भाजपा को समर्थन न देने का फैसला किया है। प्रदेश अध्यक्ष राजाराम मील की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।

राजस्थान जाट महासभा के आरोप है कि जाटों से जुड़े कई मुद्दों पर सरकार का ध्यान दिलाने पर भी जाट समुदाय की उपेक्षा की गई है, इसलिए अब यह कदम उठाने पर मजबूर होना पड़ रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि इस बार जाट समुदाय जिसकी संख्या राजस्थान में 14 फीसदी है, कांग्रेस के पक्ष में मतदान करने जा रहा है। लेकिन अभी कुछ भी कहना संभव नहीं है। दीपावली के बाद ही स्थिति कुछ साफ होगी। 2013 के विधानसभा चुनावों में जाट महासभा ने भाजपा का खुलकर समर्थन किया था।

लेकिन भाजपा यह मानकर चल रही है कि जाट समुदाय उसका साथ नहीं छोड़ेगा। उल्लेखनीय है कि 1 नवंबर से राजस्थान सरकार ने किसानों के बिजली बिलों पर 100 प्रतिशत तक सब्सिडी देने की योजना शुरू की है, जिससे किसानों, जिनमे जाट प्रमुख हैं, की आमदनी में इजाफा होगा और उनका जीवन स्तर सुधरेगा।

Related Posts